कम्युनिस्ट पार्टी का घोषणापत्र

Bilingual edition

Frederick Engels, Karl Marx

Translated by Subhashini Ali

978-81-934666-6-7

LeftWord Books, New Delhi, 2019

Language: Hindi (bilingual edition)

128 pages

Series: Little Red Books

Price INR 99.00
Book Club Price INR 70.00
SKU
pro_00006

Maximum number of characters: 50

कम्युनिस्ट पार्टी का घोषणापत्र दुनिया की सबसे लोकप्रिय किताबों में से एक है।

आधुनिक विश्व के निर्माण में अब तक का कोई राजनीतिक लेखन इस घोषणापत्र से ज्यादा प्रभावशाली नहीं हुआ। क्रांति के आह्वान के लिए इससे पहले शायद ही कभी इतनी असरदार और ताकतवर भाषा का इस्तेमाल किया गया हो। एक सौ सत्तर से ज़्यादा साल बीत जाने के बाद आज भी कम्युनिस्ट पार्टी का घोषणापत्र उसी पैनेपन, सफाई और स्पष्टता से वर्तमान पूंजीवादी व्यवस्था की पोल खोलता है। इसीलिए दुनिया भर के शासक वर्ग इस घोषणापत्र से घबराते हैं, उसकी प्रासंगिकता से लगातार इंकार करते हैं।

यह किताब नहीं, हथियार है। दुनिया बदलने का हथियार।

सुभाषिनी अली का यह अनुवाद एक ताज़ा, जीवंत भाषा में इस कालजयी पाठ को दोबारा पढ़ने पर मजबूर करता है।

कम्युनिस्ट घोषणापत्र के मूल पाठ के अलावा इस संस्करण में, 1888 में एंगेल्स द्वारा लिखित अंग्रेज़ी संस्करण की भूमिका भी दी गई है। साथ ही, भारत में कम्युनिस्ट घोषणापत्र के अलग-अलग भाषाओं में प्रकाशन के इतिहास पर एक नोट भी शामिल है।

Frederick Engels

Friedrich Engels (1820–1895) was a German social scientist, author, political theorist, philosopher, and father of Marxist theory, together with Karl Marx. In 1845 he published The Condition of the Working Class in England, based on personal observations and research in Manchester. In 1848 he co-authored The Communist Manifesto with Karl Marx. Later he supported Marx financially to do research and write Das Kapital. After Marx's death, Engels edited the second and third volumes.


Karl Marx

Karl Marx (1818-1883) was a philosopher, economist, sociologist, journalist, and revolutionary socialist. Born in Germany, he later became stateless and spent much of his life in London in the United Kingdom. He published numerous books during his lifetime, the most notable being The Communist Manifesto (1848) and Das Kapital (1867–1894).


Subhashini Ali

Subhashini Ali, formerly the president of the All India Democratic Women's Association, is a Politburo member of the Communist Party of India (Marxist).